>




“राज्य स्तर पर पर्यावरण क्षेत्र में उत्कृष्ठ कार्य के लिये 12 व्यक्तियों को “मरू रत्न” तथा दो को लाईफ टाइम मरू रत्न दिया जायेगा”

खुलासा न्यूज़, बीकानेर । मरू पर्यावरण संरक्षण संस्थान (डेको डक) एवं महिला पी.जी.महाविद्यालय, जोधपुर के संयुक्ततत्वधान में 12 व्यक्तियों को “मरू रत्न” तथा दो को लाईफ टाइम मरू रत्न दिया जायेगा ।
डेको के अध्यक्ष डॉ श्याम लाल हर्ष एवं महिला पी जी महाविद्यालय के चेयरमैन प्रोफेसर डॉ श्याम प्रसाद व्यास ने बताया कि पर्यावरण संरक्षण एवं प्राकृतिक जैविक खेती बढावा देने के साथ जैविक खेती, वन्य जीवों की सुरक्षा, पर्यावरण शिक्षा, शोध, प्रसारण, वॄक्षारोपण पर विशेष रूप से कार्य करने वाली संस्थाओं और व्यक्तियो को दिया जायेगा।
डॉ. हर्ष ने बताया कि प्रोफेसर (डॉ ) अनिल कुमार छंगाणी विभागाध्यक्ष, पर्यावरण विज्ञान विभाग, महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय, बीकानेर , को उनके द्वारा राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर परम्परागत पर्यावरण ओर वन्यजीयो पर उल्लेखनीय कार्य, चलचित्र ओर लेखन के लिए “मरू रत्न” पुरस्कार दिया जाएगा।

इसके अलावा लाईफटाइम मरू रत्न उदयपुर के प्रोफेसर एल एन व्यास एवं प्रोफेसर डॉ इन्द्रा व्यास को दिया जा रहा है
डॉ हर्ष ने बताया कि प्रोफेसर एल एन व्यास,सेवानिवृत विभागाध्यक्ष वनस्पति विभाग ने 51शोधार्थियो को पर्यावरण के विषयों पर डाँक्टरेट कीं उपाधि अपने मार्गदर्शन में दिलायी।
इसी तरह मरू रत्न वीरेन्द्र परिहार जयपुर दूरदर्शन के कृषि चैनल पर किसानो को जैविक खेती, कृषि शिक्षा के लिये ।
पदम् श्री हिम्मता राम भामू नागौर जो पिछले 40 वर्षों से 2 लाख वृक्षारोपण एवं वन्य जीवों की सुरक्षा के लिये।
सुरेन्द्र सिंह शेखावत, संयुक्त निदेशक आरसेटी आईसीआईसीआई ने पिछले 10 वर्षों में 50 हजार महिलाओं को जैविक कृषि उन्नत चारा जोधपुर में अजोला उत्पादन में उल्लेखनीय कार्य के लिए। कार्यक्रम के संयोजक प्रोफेसर एस पी व्यास ने बताया कि यह कार्यक्रम महिला पी जी महाविद्यालय मे मई के महिने में रखा जायेगा। साथ ही कोरोना का पूरा ध्यान रखा जाएगा ।