बीकानेर। पांचू थाना क्षेत्र के सारूंडा गांव की रोही में शिकारियों ने दो हिरणों की आंखों में टार्च की रोशनी डाली और लाठी से वार कर उनका शिकार कर लिया। वन विभाग ने ग्रामीणों की मदद से तीन शिकारियों को गिरफ्तार कर मृत हिरण बरामद कर लिए। चौथा शिकारी फरार है जिसकी तलाश की जा रही है। शिकारियों ने सारूंडा गांव की रोही में आवाज करने वाला यंत्र लगा रखा था। बुधवार को अलसुबह हलके अंधेरे में यंत्र की आवाज सुनकर दो हिरण वहां आ गए। शिकारियों ने उनकी आंखों में टार्च डाली जिससे वे मौके पर खड़े हो गए। इस दौरान शिकारियों ने लाठी से वार कर दोनों हिरणों की जान ले ली। मृत हिरणों को टैक्सी में डालकर ले जाने लगे तो ग्रामीणों ने शिकारियों को घेर लिया। इस दौरान वन विभाग के नोखा रेंजर रामनारायण बिश्नोई और वन मंडल फ्लाइंग इंचार्ज रमणलाल पूनिया की टीम भी वहां पहुंच गई। सारूंडा निवासी नेनाराम नायक और नागौर में तांतवास निवासी किसनाराम नायक मौके पर पकड़े गए, लेकिन इनके साथी सारूंडा निवासी चेनसिंह और तांतवास निवासी पप्पूराम नायक फरार हो गए। पुलिस ने मौके से मृत हिरण, टैक्सी और बाइक बरामद कर ली। रेंजर रामनारायण ने बताया कि फरार हुए अभियुक्तों की तलाश की की गई तो सायंकाल सारूंडा और तांतवास के बीच पप्पूराम पकड़ा गया। चेनसिंह फरार है जिसकी तलाश की जा रही है। अभियुक्तों को गुरुवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।
पांचू थाना क्षेत्र के सारूंडा गांव की रोही में अलसुबह किया िशकार, दो शिकारी मौके पर और तीसरा शाम को गिरफ्तार, चौथे चिकारी की तलाश