>



बीकानेर। संभाग की सबसे बडी अस्पताल पीबीएम में बना ट्रोमा सेंटर में आज सुबह अचानक जमीन धंसी गई। जमीन धंसने से एकबारगी तो मौजूद मरीजों में अफरा-तफरी मच गई। अगर देखा जाये तो पीबीएम और भ्रष्टचार दोनों का चोली दामन का मेल है क्योंकि सरकार द्वारा पीबीएम की व्यवस्था के लिए करोड़ों रुपये आते है लेकिन पैसा बीच में ही ठेकेदारों व प्रशासन के बीच ही बंटवारा हो जाता है।

मशीनों व सफाई के नाम लाखों रुपये आते है लेकिन ये सारा पैसा कहां जाता है पता ही नहीं है। अभी कुछ साल पहले ही बना ट्रोमा सेंटर में बनने के कुछ ही दिन बाद जग जगह से क्षतिग्रस्त होना शुरु हो गया है और अब तो जमीन भी धंसने लगी है अगर समय रहते कार्य नहीं किया तो ट्रोमा सेंटर धीरे-धीरे सभी जगहों से क्षतिग्रस्त हो जायेगा।