श्रीगंगगानगर। श्रीगंगगानगर जिले के गांव पटवा में  डिग्गी में नहाने गए तीन दोस्तों की डूबने से मौत हो गई, लेकिन इनकी मौत की खबर देर रात को परिजन को लगी। तीनों दोस्तों ने गर्मी के कारण सोमवार दोपहर करीब 12 बजे डिग्गी में नहाने का प्लान बनाया। गांव से दो किलोमीटर दूर खेत में बनी डिग्गी में बच्चे उतरे। बच्चे अठखेलियां करते हुए पानी की गहराई में चले गए। यहां करीब पांच फीट से ज्यादा पानी था। बीच में पहुंचते ही तीनों डूब गए। इन दिनों श्रीगंगानगर का अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना हुआ है।
हादसे में 13 साल के कमल बेरवाल पुत्र राजेंद्र बेरवाल, 14 साल के योगेश सहारण पुत्र परसराम सहारण और 15 साल के युवराज पुत्र रामनिवास की मौत हो गई। कमल, योगेश और युवराज जब शाम तक घर नहीं पहुंचे तो तीनों के परिजनों को चिंता हुई। परिजनों ने तलाश शुरू की। गांव के घरों में ढूंढा। मंदिर से मुनादी भी करवाई गई। बच्चों के नहीं मिलने पर डिग्गी के पास तलाश की। वहां तीनों के शव मिले। सोमवार देर रात शवों को बाहर निकाला गया। मंगलवार सुबह 9 बजे तीनों का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया।
शाम तक घर नहीं पहुंचे तो शुरू हुई तलाश
कमल, योगेश और युवराज जब शाम तक घर नहीं पहुंचे तो तीनों के परिजनों को चिंता हुई। परिजनों ने गांव में तलाश की। उनके नहीं मिलने पर डिग्गी के पास तलाश की तो वहां कपड़े और चप्पल पड़ी मिली। डिग्गी में तलाशा तो तीनों के शव पड़े मिले।
परिवार का इकलौता बेटा था कमल
मृतकों में शामिल कमल बेरवाल अपने पिता का इकलौता पुत्र है। सूचना मिलने के बाद से परिवार का बुरा हाल है। परिवार में माता-पिता के अलावा एक बहन है। जबकि अन्य मृतकों योगेश और युवराज के एक-एक भाई और बहन है।
तीनों का एक साथ हुआ अंतिम संस्कार
गांव में एक साथ तीनों का अंतिम संस्कार हुआ तो लोग आंसू नहीं रोक पाए। घटना की सूचना मिलते ही जिसने भी सुना हैरान हो गया। गांव के तीन बच्चों की एक साथ मौत ने सभी को झंकझोर कर रख दिया। घर में मां और बहनों का रो-रोकर बुरा हाल है।