4 से 10 फरवरी तक मनाया जाएगा सड़क सुरक्षा सप्ताह

बीकानेर। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा कि 31 वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह  4 फरवरी से 10 फरवरी तक मनाया जाएगा। इस दौरान जिला मुख्यालय से लेकर पंचायत समिति स्तर तक विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर आम लोगों को सड़क नियमों, यातायात नियमों के बारे में विस्तार से बताया जाएगा। साथ ही जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से स्कूली बच्चों और महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं को इसमें जोड़ कर एक वातावरण बनाया जाएगा ताकि लोग यातायात नियमों का पालन करें और सुरक्षित  रहें।गौतम 31 वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा के तहत परिवहन विभाग, पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि सप्ताह के दौरान 5 फरवरी को जिला मुख्यालय से लेकर ग्राम पंचायत स्तर तक सड़क सुरक्षा की शपथ दिलाई जाएगी। शपथ दिलाने का कार्य सभी राजकीय कार्यालयों, महाविद्यालय सहित प्रमुख पार्क और सार्वजनिक स्थलों पर किया जाएगा। इसी तरह   6 फरवरी को परिवहन विभाग विभिन्न राजकीय कार्यालयों, ट्रांसपोर्ट व्यवसाय तथा परिवहन से जुड़े विभिन्न क्षेत्र के लोगों के साथ बातचीत भी करेगा।

सप्ताह के दौरान महाविद्यालय और विद्यालयों में गठित सड़क सुरक्षा बल के सहयोग से विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। साथ ही पोस्टर, पेंटिंग , स्लोगन , जिंगल सड़क सुरक्षा पर निबंध कहानी लेखन तथा वाद-विवाद जैसे कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाएगा। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत विभाग द्वारा प्रचार-प्रसार करने के लिए प्रमुख स्थानों पर बैनर होल्डिंग इत्यादि भी लगाएं। साथ ही विभिन्न पेट्रोल पंप ,टोल प्लाजा , सार्वजनिक स्थलों जैसे रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड इत्यादि पर भी सड़क सुरक्षा एवं विशेष रूप से यातायात नियमों के प्रचार-प्रसार का कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि इस दौरान स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से आवारा पशुओं के सिंग के ऊपर रिफ्लेक्टर टेप लगाने का कार्य भी किया जाए।

न्यास करें ट्रैफिक पार्क विकसित
जिला कलक्टर ने सचिव नगर विकास न्यास को निर्देश दिए कि जिला मुख्यालय पर एक ट्रैफिक पार्क विकसित करें। पार्क में ट्रैफिक नियमों के बारे में विस्तार से बताएं। साथ ही सड़क पर विभिन्न यातायात नियमों को दर्शाने वाले संकेत भी लगे हुए हो, ताकि यहां आने वाले लोग ट्रैफिक नियमों और ट्रैफिक संकेतों के बारे में जानकारी मिल सके। उन्होंने कहा कि इस पार्क में स्कूली विद्यार्थियों को भ्रमण करवाया जाएगा।

यातायात बने सुगम, एक तरफा रास्ता तलाशें
जिला कलक्टर ने न्यास सचिव मेघराज सिंह मीणा और यातायात निरीक्षक प्रदीप चारण से कहा कि शहर के मुख्य मार्गों पर यातायात दबाव कम करने के लिए आवश्यक कदम उठाए। इसके लिए अगर जरूरत हो तो एक तरफा यातायात व्यवस्था भी प्रारंभ की जाए । उन्होंने कोटगेट के पास सट्टा बाजार में यातायात व्यवस्था सुचारू रूप से करने के लिए यहां एक तरफा रास्ता संचालित करने के साथ-साथ वाल टू वाल सड़क बनाने का कार्य किया जाए। गौतम ने मीना और चारण को यह भी निर्देश दिए कि वे महात्मा गांधी मार्ग पर यातायात व्यवस्था सुचारू बनाने के लिए यहां के व्यापार मंडल के पदाधिकारियों व आमजन से बातचीत कर  इस रास्ते में भी वाल टू वाल सड़क बनाने का कार्य करे। बैठक में न्यास सचिव मेघराज सिंह मीना, जिला परिवहन अधिकारी जुगल किशोर माथुर,यातायात निरीक्षक प्रदीप चारण सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

सड़क पर पैदल दांयी ओर चलें
जिला कलक्टर ने बैठक के दौरान बताया कि पैदल चलते समय भी सड़क नियमों की अनुपालना सबसे अहम है। पैदल चलते समय हमेशा फुटपाथ पर चलें, जहाँ कोई फुटपाथ न हो, सड़क के दाहिनंे किनारे पर चलें ताकि आप विपरीत दिशा में आने वाले ट्रैफिक को देख सकें। उन्होंने कहा कि सड़क क्राॅस करते समय दोनों ओर ट्रैफिक देखें और सदैव जेबरा क्राॅसिंग से ही पार करें। मोटरवे या स्लिप रोड पर नहीं चलना चाहिए।  बस आदि का इंतजार करते समय मुख्य सड़क पर ना खड़े हों ना ही चलती बस के पीछे दौड़ें। बस आदि से उतरते समय भी दिशा और ट्रैफिक का ध्यान रखें।