>


ऑनलाइन आवेदन के बाद पहुंचेंगे बच्चों के आइडिया
्र-इन्सपायर अवार्ड मानक योजना में आवेदन की कछुआ चाल, अधिकांश जिलों से नहीं हुए आवेदन
बीकानेर। विज्ञान और प्रौद्योगिकी के माध्यम से सामाजिक जरूरतों को पूरा करने के मकसद से शुरू की गई इंस्पायर अवार्ड योजना में चयनित स्कूली बच्चों के आयडियों को राष्ट्रपति भवन तक जाने का मौका मिलेगा, लेकिन यह तब संभव होगा, जब विद्यालय द्वारा ऑनलाइन नॉमिनेशन किया जाएगा। माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा चार माह पहले इंसपायर अवार्ड मानक योजना 2019-20 को लेकर जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश जारी कर दिए थे। इसके तहत 31 जुलाई तक विज्ञान व गणित विषय में उल्लेखनीय कार्य करने वाले विद्यार्थियों के नॉमिनेशन करवाने थे लेकिन 12 अगस्त तक अधिकांश जिलों से आवेदन की शुरुआत तक नहीं हुई है और कुछ जिलों में नाम मात्र के आवेदन हुए हैं। इसे गंभीरता से लेते हुए माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के छात्रवृति अनुभाग के सहायक निदेशक स ंजय सेंगर ने संस्था प्रधानों को फटकार लगाते हुए आवेदन की तिथि को 31 अगस्त तक बढ़ाने के आदेश दिए थे। उन्होंने बताया कि जिला स्तर में से 10 प्रतिशत प्रतिभागियों का चयन राज्य स्तर पर होगा। इन्हीं में से 10 प्रतिशत का राष्ट्रीय स्तरीय प्रदर्शनी के लिए चयन होगा। ऐसे प्रतिभागियों को 50 हजार रुपए अपने आयडिया या प्रोजेक्टर सुधार के लिए दिए जाएंगे। साथ ही विशेष तकनीकी सहायता भी देंगे। इस तरह 1000 आयडिया का चयन राष्ट्रीय स्तर की प्रदर्शनी के लिए होगा जो दिस ंबर में आईआईटी दिल्ली में लगाई जाएगी। इसमें से 60 अंतिम प्रोजेक्ट का चयन होगा, जो राष्ट्रपति भवन में फेस्टीवल ऑफ इनोवेशन में दिखाए जाएंगे। इसके अलावा इन्हें पेटेंट करवाया जाएगा। इससे रॉयल्टी के रूप में आय प्राप्त होगी।
6 से 10 तक विद्यार्थी ले सकते हैं हिस्सा
स्कूली बच्चों में इनोवेशन और रचनात्मक सोच को विकसित करने के मकसद यह योजना शुरू की गई है। कक्षा 6 से 10 तक के विद्यार्थियों के इनोवेशन और आयडिया को इंस्पायर अवार्ड के ई-मिस पोर्टल पर नॉमिनेशन करवाया जाना है। एक स्कूल से 2 से 3 विद्यार्थियों को नोमिनेट किया जा सकता है। विद्यार्थी के आयडिया का विवरण एवं खाता नंबर, भामाशाह आदि भी अपलोड करने होंगे, ताकि आयडिया का चयन होता है तो उसे 10 हजार रुपए डीबीडी योजना के माध्यम से मिलेंगे।
दिए गए हैं निर्देश
इन्सपायर अवार्ड मानक योजना के तहत नॉमिनेशन की स्थिति काफी कम हैं। आवेदन की तारीख 31 अगस्त तक बढ़ाई गई है। संस्था प्रधानों को निर्धारित तिथि तक आवेदन के निर्देश दिए गए हैं।
संजय सेंगर
सहायक निदेशक, छात्रवृति अनुभाग,
माध्यमिक शिक्षा निदेशालय