बीकानेर। राजकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय बीकानेर में 27 व 28 दिसम्बर को एलुमनाई मीट समारोह ‘पुनर्मिलन-2020’ धूमधाम से मनाया गया। इस समारोह के प्रथम दिवस को महाविद्यालय के स्पोट्र्स एवं खेल प्रशिक्षण काम्प्लेक्स में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया। जिसमें सिल्वर जुबली बैच 1995 के पूर्व विद्यार्थी, तत्कालीन शिक्षकगण सपरिवार शामिल हुए। इस अवसर पर पूर्व विद्यार्थियों ने अपने विद्यार्थी जीवन की रोचक घटनाओं का उल्लेख करते हुए अपने पुराने साथियों की स्मृतियों को ताजा किया। समारोह के दूसरे दिवस पर समस्त पूर्व विद्यार्थियों ने अपने समय के  व्याख्यान कक्षों, प्रयोगशालाओं एवं महाविद्यालय के नवीन बदलावों को देखा एवं उत्साहपूर्वक समूह चित्र खीचें। शाम को शुरू हुए कार्यक्रम में इस महाविद्यालय से 1970 में पास हुए विद्यार्थियों का गोल्डन जुबली वर्ष मनाया गया। इन्हें समिति सदस्यों द्वारा टीकाकरण, माला, शाल एवं स्मृति-चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इसी प्रकार 1995 बैच का भी जुबली वर्ष मनाया गया एवं उन्हें भी उपरोक्तानुसार सम्मानित किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलन से हुई एवं इस यादगार अवसर पर एक स्मारिका ‘पुनर्मिलन-2020’ का विमोचन भी किया गया। प्रधानाचार्य के के चौधरी ने एलुमनाई को सम्बोधित करते हुए वर्तमान विद्यार्थियों के लिए छात्रवृति की शुरुआत करने का सुझाव दिया। डॉ लालचंद बिश्नोई द्वारा एलुमनाई को वर्तमान विद्यार्थियों के उद्यम प्रशिक्षण एवं रोजगार में सहायता हेतु प्रेरित किया गया। सिल्वर जुबली  बैच के पूर्व विद्यार्थियों  द्वारा अध्यनरत विद्यार्थियों के लिए शिक्षानिधि प्रकोष्ठ एवं संस्थान विकास हेतु लगभग एक लाख पैंतीस हजार रूपये की आर्थिक सहायता भी समीति को प्रदान की गयी। समिति के अध्यक्ष अनुराग नागर द्वारा उक्त सामाजिक सरोकार  के कार्य पर आभार व्यक्त किया गया एवं कार्यक्रम को सफल बनाने वाले समस्त प्रायोजकों एवं आगंतुकों को धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन प्रशांत जोशी ने किया।