>



नई दिल्ली। दिल्ली में नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन के बीच प्रदर्शनकारियों ने पेट्रोल पंप समेत कई संपत्तियों को आग के हवाले कर दिया है। शाहीन बाग के बाद पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद में दो गुटों में हिंसक झड़प हुई। उसके बाद भजनपुरा में सीएए विरोध प्रदर्शनकारियों ने पेट्रोल पंप में आग लगा दी। वहीं मौजपुर में एक हेड कॉन्स्टेबल की मौत हो गई । जबकि दो घरों को भी नुकसान पहुंचाया गया है।
पुलिस ने आंसू गैस के गोले दाग
इसके अलावा कई वाहनों में आगजनी की गई है। मौजपुर में हालात पर नियंत्रण पाने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे हैं। हालांकि भीड़ अब भी वहां एकत्रित है। इधर बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनाता कर दिया गया है। गौरतलब है शनिवार रात से जाफराबाद-मौजपुर और चांदबाग में नागरिकता कानून के खिलाफ कुछ लोग मेट्रो स्टेशन के नीचे बैठकर प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं रविवार को कुछ लोग सीएए के समर्थन में सड़कों पर उतर आए हैं। समर्थन और विरोध करने वाले लोग आमने-सामने आ गए हैं। सोमवार की सुबह से जाफराबाद इलाके में कई जगहों पर हिंसक झड़पें हो रही हैं।
 समर्थन और विरोध में लोग आमने-सामने
मौजपुर इलाके में कुछ लोग सीएए के विरोध में कई लोग सीएए के समर्थन में सड़कों पर उतर आए हैं। इस बीच एक शख्स हाथ में सीएए के समर्थन में पोस्टर लेकर दिखा। उसने सीने पर ‘वी सपोर्ट सीएए’ और पीठ पर पुलवामा शहीदों के नाम लिखवा रखे है।रविवार को जाफराबाद और चांदबाग में प्रदर्शनकारियों ने पत्थरवाजी भी की गई थी। हालांकि पुलिस ने देर रात तक हालात को काबू में कर लिया था। लेकिन सोमवार सुबह से ही भजनपुरा के चांदबाग में सीएए के खिलाफ धरनास्थल पर पत्थरबाजी हो रही है।