>


बीकानेर। रोजगारपरक शिक्षा के उद्देश्य से बीकानेर तकनीकी विवि नीत नए नवाचार कर रहा है। विवि अब इ ंजीनियरिंग की पढाई के साथ फैशन डिजाईनिंग के कोर्सज भी करवाने जा रहा है। वहीं एम टेक एवं एमबीए में के्र डिट सिस्टम लागू कर सरकारी विवि में पहली पायदान पर आ गया है। इतना ही नहीं एमटेक करने वाले प्रत्येक विद्यार्थी को छात्रवृत्ति भी दी जाएगी। पत्रकारों को जानकारी देते हुए बीटीयू के कुलपति प्रो एच डी चारण ने बताया कि एमटेक व एमबीए विद्यार्थी अध्ययन के साथ साथ प्रायोगिक तौर पर एक फेकल्टी मेन्टर की देखरेख में काम करे ंगे। ऐसा करने से विद्यार्थियों को औद्योगिक संस्थाओं की मांग के अनुरूप फील्ड के काम में महारत हासिल होगी। जिस तरह सीए व मेडिकल के विद्यार्थी अध्ययन के साथ इन्टर्नशिप या आर्टिकलशिप करते हुए बेहतर सीखते है। उसी तर्ज पर छात्र अंतिम सेमेस्टर में औद्योगिक क्षेत्र में रहकर प्रेटिक्ल ज्ञान अर्जित करेंगे।
अब फैशन डिजाईनिंग भी कराएगा बीटीयू
कुलपति ने बताया कि बीटीयू ने इस वर्ष एम टेक के तीन नये कोर्स सिविल इंजीरियरिंग,मैकेनिकल,इलेक्ट्रिकल इ ंजीनियिरिंग की शाखाओं में शुरू किये है। इसके अलावा बीटेक में आर्टिफिशियल इन्टेलिजेन्सी,डेटा साईन्सेज एवं मशीन लर्निग एंड कम्प्यूटिंग कोर्स नये शिक्षण सत्र से शुरू किये जा रहे है। साथ ही बीटेक में फैशन डिजाईनिंग,फै शन कम्यूनिकेशन,लाईफ स्टाइल ऐसेसरिज एवं इन्टिरियर डिजाइन के कोर्सज भी प्रारंभ होने जा रहे है।
बेक पेपर अगले सेमेस्टर में
उन्होंने बताया कि बीटीयू ने छात्रांके लिये बेक के पेपर अगले सेमेस्टर की परीक्षा करवाने का निर्णय लेकर लागू कि या है एवं तय समय पर परीक्षा भी करवा दी गई। पहले बेक के पेपर एक वर्ष के बाद ही होते थे। जिससे विद्यार्थी को बेक पेपर पास करने में मुश्किलें आती थी।
समेकित अंको का रिकार्ड मोबाइल पर
चारण ने बताया कि विद्यार्थियों को सभी सेमेस्टर के समेकित अंक ों का रिकार्ड मोबाइल पर उपलब्ध करवाने के लिये एप्प जारी किया है। जिससे सभी रिजल्ट व अंकतालिका बीटीयू बीकानेर एप्प के माध्यम से विद्यार्थियों व अभिभावकों के पास पहुंच जाएगा। यहीं नहीं बीटीयू ने अपने संबंद्व सभी महाविद्यालयों को एक साफ्टेवयर उपलब्ध करवाया है,जिससे छात्रों की उपस्थिति को भी ऑनलाइन रिकार्ड करने की व्यवस्था की गई है। इससे विद्यार्थियों के अनुपस्थिति की सूचना एसएमएस व ईमेल के जरिये अभिभावकों को तुरंत मिल सकेगी।
होगें के विकास के कार्य
चारण ने बताया कि विद्यार्थियों के हितार्थ विवि अनेक विकास कार्य करवा रहा है। जिसमें 1.25 करोड की लागत से छात्रावासों का नवनिर्माण,एक करोड की लागत से नई कैन्टीन निर्माण,मूलभूत सुविधाओं की मरम्मत,नई प्रयोगशालाओं का निर्माण व मशीनरी खरीद तथा पीएचडी विद्यार्थियों के अध्यापक की सुविधा तथा प्रायोगिक कार्य करवाने जैसे काम किये जा रहे है। साथ ही व्याख्यामशाला के जरिये स्वस्थ रहने की सीख भी दी जाएगी।