>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। बीकानेर की बेटी को न्याय दिलाने की मांग को लेकर कैंडल मार्च अभी-अभी एसपी कोठी के पास पहुंचा है। यहा पर देखते ही देखते पुलिस और जनता के बीच लाठी भाटा जंग हुई है।  यहां महिलाओं को भी जनाना पुलिस के बिना खदेड़ा गया, यहां तक कि लाठी भी भांजी गई। बता दें कि बीकानेर की बेटी ‘शालू’ हत्याकांड मामले में दिन के बाद अब शाम को भी लोग सड़कों थे। जो सार्दुलगंज से कैंडल मार्च निकालकर एसपी की कोठी के आगे पहुंच गए। आरोप है कि एसपी प्रदीप मोहन शर्मा दिन में भी बाहर नहीं आए। एसपी के बाहर नहीं आने पर शहरवासी आक्रोशित हो गए। आक्रोश बढ़ते देख पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया।

आपको बता दें कि एम.एस.कॉलेज की छात्रा के साथ हुई हैवानियत मामले में पुलिस ने अब तक सरपंच पति सहित दो जनों को गिरफ्तार कर चुकी है। हालांकि दो अपराधी अब भी पुलिस की पकड़ में नहीं आए है।

हर ओर मचा हाहाकार, आंखे नम, हाथ में मोमबत्तियां
  बीकानेर की बेटी को न्याय दिलाने को लेकर शहरवासियों द्वारा कैंडल मार्च निकाला जा रहा है। लोगों की आंखे नम है, हाथ में मोमबत्तियां है। अभी-अभी कैंडल मार्च एसपी कोठी के आगे पहुंचा है। शहरवासियों को संबोधित करते वक्त जनसेवक दुर्गासिंह भावुक हो गए है। दुर्गासिंह ने कहा कि साथियों ज्वाला की आग ठण्डी मत पडऩे देना, जब तक बीकानेर की बेटी को न्याय मिले। साथ ही दुर्गासिंह ने कहा कि मां करणी की धरती पर अपराध करने वालो को किसी भी सूरत में बख्सा नहीं जाएगा।