>

दूसरे घायल ने जयपुर में तोड़ा दम

खुलासा न्यूज़, बीकानेर। नोखा में होली से एक दिन पहले 8 मार्च को बोलेरा कैम्पर गाड़ी में सवार युवकों पर पेट्रोल छिड़ककर जलाने के मामले में घायल दूसरे व्यक्ति ने भी पीबीएम अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।  मिली जानकारी के अनुसार घटनाक्रम में घायल अजीसिंह भाटी की इलाज के दौरान मौत हो गई। बता दें कि दो दिन पहले झुलसे शांतिलाल की भी मौत हो गई थी।

आरोपी तीन दिन पुलिस रिमांड पर
इस वारदात मे एक युवक की मौत के मामले में गिरफ्त में आए चार आरोपियों को न्यायालय में पेश किया। जहां चारों को तीन दिन पुलिस रिमांड पर भेज दिया। नोखा सीओ नेमसिंह चौहान के अनुसार पांच दिन का रिमांड मांगा था लेकिन कोर्ट ने तीन दिन का रिमांड दिया।
न्यायालय में पेश करने से पहले पुलिस का एक दूसरा पहलू भी सामने आया। एक बदमाश के पैर में फैक्चर होने के कारण पुलिसकर्मियों ने कंधों का सहारा देकर मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया। पेश करने के दौरान बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ रही।
बता दें कि गिरफ्तार होने वालों में नोखा के वार्ड 32 जोरावरपुरा हाल माडिया निवासी सुरेश उर्फ सुशिया उर्फ शिकारी पुत्र भंवरलाल बिश्नोई, बीकासर निवासी गोविंददान चारण पुत्र नारायण दान चारण, कुदसू निवासी सुभाष बिश्नोई पुत्र रामधन विश्नोई तथा उडसर निवासी रिछपाल बिश्नोई उर्फ फौजी पुत्र रामधन विश्रोई है। पुलिस के अनुसार इस मामले में अन्य आरोपी भी नामजद है जिनको जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह है मामला
नोखा में आठ मार्च की शाम सुरेश बिश्नोई, गोविंददान, राहुल सेवग, रेवंतसिंह व सात-आठ अन्य ने एक बोलरो कैम्पर गाड़ी में पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। वारदात के समय कैम्पर में पृथ्वीसिंह, शांतिलाल बोथरा, विकास सेवग एवं अजीतसिंह सवार थे। आग लगने से शांतिलाल बोथरा व अजीतसिंह गंभीर रूप से झुलस गए, जिन्हें पीबीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया। नौ मार्च को इलाज के दौरान शांतिलाल बोथरा की मौत हो गई।