>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। बीकानेर की बेटी शालू हत्याकाण्ड मामले में जिले के कप्तान की उदासीनता शहर भर में चर्चा का विषय बनी हुई है। अगर कप्तान गंभीरता दिखाते तो लोगों में आक्रोश नहीं बढ़ता और ना ही लाठी-भाटा जंग होता। इस पूरे प्रकरण में मुख्य रूप से सवालों के कटघरे में कप्तान प्रदीप मोहन शर्मा आ गए है। अनेक ऐसे प्रकरण है जिसमें कप्तान की उदासीनता देखने को मिलती है।
आमजन का आरोप है अगर एसपी ज्ञापन लेने आ जाते तो प्रदशर्ननकारियों का आक्रोश नहीं बढ़ता। बता दें कि आज दिन में भी एसपी ने खुद कोई ज्ञापन नहीं लिया तों वहीं प्रदर्शन कर रही छात्राओं को समझाने या आश्वासन देने वो नहीं आए। आमजन का यह भी आरोप है कि जिले के एसपी जनता के प्रति कितने गंभीर है ? आरोप यह भी लगाया कि एसपी कोठी में बैठे रहे इसलिए शहरवासियों में आक्रोश बढ़ गया। इस लाठी-भाटा जंग व एसपी प्रदीप मोहन शर्मा सवालों के कटघरे में है।

इंतजार करते रहे प्रदर्शनकारी, फिर भी नहीं आए एसपी
प्रदर्शन में शामिल महिलाओं व युवतियों का आरोप है कि मर्दाना पुलिस ने उनके साथ धक्का मुक्की की। वहीं एक आरोप है कि इस दौरान पुलिस कर्मी द्वारा युवती के गलत जगह हाथ भी लगा। बता दें आज दिन में हुए प्रदर्शनों के दौरान एसपी नहीं आए और नहीं ही उन्होंने ज्ञापन लिया। इसी बात से नाराज लोग कैंडल मार्च के रूप में एसपी कोठी पहुंचे। कुछ समय इन्तजार करने के बाद भी एसपी नहीं आए। इसके बाद पुलिस के कहने पर प्रदर्शनकारी कलेक्टर कोठी की ओर बढ़े। इसी दौरान लाठी चार्ज की घटना हुई। पुलिस ने जब लोग को खदेडऩा शुरू किया तो हजारों लोग तितर-बितर हो गए।

सरपंच पति सहित दो गिरफ्तार, पूछताछ में जुटी पुलिस
सदर थाना क्षेत्र में रहने वाल एक लड़की के साथ कुछ लोगों ने पहले गैंगरेप किया बाद में उसकी हत्या कर शव को नहर में फैंक आये। इस मामले में सदर पुलिस ने सदर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सीआई भोजराज सिंह से मिली जानकारी के अनुसार राजासर भाटियान का सरपंच पति सुमेर सिंह व जालौर जिले का बृजपाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल इन आरोपियों से गहनता के साथ पुलिस पूछताछ कर रही है। सीओ भोजराज सिंह ने बताया कि फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई नहीं है, आज शाम तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ जाएगी उसके बाद पूरी सच्चाई सामने आएगी। बता दें कि सोमवार को लूणकरणसर के मलकीसर पंपिंग स्टेशन मिला था। जिसकी गुमशुदगी परिजनों ने सदर पुलिस थाने में दर्ज करवाई थी। परिजनों ने शव की शिनाख्त करने के बाद बृजपाल, सुमेर सिंह, मोहित बिश्नोई के खिलाफ धारा 363, 376डी, 302 के तहत मामला दर्ज करवाया था।

घटना के विरोध में फूट पड़ा गुस्सा
सोशल मीडिया पर लोगों का इस घटना के विरोध में गुस्सा फूट पड़ा है, लोग आरोपियों को गिरफ्तार कर फांसी पर चढ़ाने की मांग कर रहे है।

दुर्गासिंह बोले- साथियों ज्वाला की आग ठण्डी मत पडऩे देना
बीकानेर की बेटी को न्याय दिलाने को लेकर शहरवासियों द्वारा कैंडल मार्च निकाला जा रहा है। लोगों की आंखे नम है, हाथ में मोमबत्तियां है। अभी-अभी कैंडल मार्च एसपी कोठी के आगे पहुंचा है। शहरवासियों को संबोधित करते वक्त जनसेवक दुर्गासिंह भावुक हो गए है। दुर्गासिंह ने कहा कि साथियों ज्वाला की आग ठण्डी मत पडऩे देना, जब तक बीकानेर की बेटी को न्याय मिले। साथ ही दुर्गासिंह ने कहा कि मां करणी की धरती पर अपराध करने वालो को किसी भी सूरत में बख्सा नहीं जाएगा।