>


बीकानेर। रक्षाबंधन के दिवस पर भाई-बहन के संबंधों पर आधारित फिल्म “मान्याÓज ब्रदर” रिलीज़ हुई । फिल्म में दिखाया गया है की एक तरफ आज के इस आधुनिक भारत में जहाँ हम पुरुष और महिलाओं के कंधे से कन्धा मिलाकर साथ चलने की बात कर रहे हैं वहीँ दूसरी और आधुनिक होती जा रही आज की इस पीढ़ी में किस तरह से अभी भी संस्कारों या इज्जत के नाम पर महिलाओं को इच्छाओं, सपनो और आजादी की बलि देनी पड़ती है। 48 मिनट की इस फिल्म में भाई-बहन के रिश्ते को गहराई से समझाने की कोशिश की गयी है । गोल्डन सैंड प्रोडक्शंस के बैनर तले बनी इस फिल्म के डायरेक्टर हिमांशु व्यास ने बताया की वो इस कहानी पर लगभग 1 साल से काम कर रहे थे । फिल्म के मुख्य कलाकार आकांक्षा भोजक, राहुल पुरोहित, वरिष्ठ अभिनेता अशोक जोशी, अनुराग व्यास, समता प्रजापत हैं। फिल्म पूर्ण रूप से बीकानेर में ही बनाया गया है। फिल्म के सिनेमेटोग्राफर मधुर व्यास हैं । फिल्म की कहानी हिमांशु व्यास ने लिखी है साथ ही सम्पादन भी उन्होंने ही किया है । फिल्म के प्रोडूसर महेश सिंह पुरोहित ने किया है।
पूछने पर हिमांशु व्यास ने बताया की बीकानेर जैसे छोटे शहर में एक स्तरीय फिल्म बनाना बहुत मुश्कि ल काम है । इस फिल्म को बनाने में बहुत मुश्किल का सामना करना पड़ा जिस वजह से फिल्म को बनने में लगभग 1 वर्ष का समय लगा । वहीु उन्होंने ये भी कहा की बीकानेर में प्रतिभाओं की कमी नहीं है लेकिन अगर उन्हें प्रोत्साहन मिले तो इस शहर में भी बॉलीवुड स्तरीय काम हो सकता है जो देश और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान एवं बाजार बना सकता है, जिसके लिए पिछले 5 सालों से प्रयासरत है। गौरतलब है की हिमांशु व्यास एवं उनकी टीम बीकानेर में पिछले 5 सालों से लगातार फिल्म प्रोडक्शन का काम गुणवत्ता के साथ करते हुए कला के लिए एक सकारात्क माहौल बनाने की कोशिश में लगे हुए हैं ।भविष्य की योजनाओं के बारे में पूछने पर हिमांशु व्यास ने बताया की हम आगे भी कुछ फिल्म प्रोजेक्ट्स लेकर आएंगे जिनके लेखन का काम चल रहा है। आगामी प्रोजेक्ट्स में बीकानेर के कलाकारों को मुख्य स्थान दिए जाएंगे ताकि वे अपनी प्रतिभा को विश्व के सामने रख सके । जिसके लिए ऑडिशन आदि आयोजित किये जाएंगे ।
“मान्याÓज ब्रदर” को गोल्डन सैंड प्रोडक्शंस के ऑफिसियल यूट्यूब चैनल पर देखा जा सकता है । इसके अतिरिक्त फिल्म का लिंक गोल्डन सैंड प्रोडक्शंस के ऑफिसियल फेसबुक से भी प्राप्त किया जा सकता है ।