खुलासा न्यूज़, बीकानेर/ नोखा । विवाहिता के साथ मारपीट कर कुंड में डालकर हत्या करने का मुकदमा नोखा थाने में दर्ज करवाया गया है। नोखा गांव के कुम्भाराम जाट ने ने दी रिपोर्ट में बताया कि उसकी बड़ी पुत्री सरोज की शादी बजरंग जाट व छोटी पुत्री सुमित्रा की शादी कैलाश जाट निवासी खिचियासर के साथ वर्ष 2013 में मेरे घर नोखागांव में हुई। शादी में उन्होंने अपनी हैसियत से बढ़ चढकर दोनों पुत्रियों को दान दहेज में सोने चांदी के जेवरात व अन्य घरेलु सामान दिया था।
शादी के बाद सरोज ससुराल चली गई। शादी के कुछ समय बाद उसका पति बजरंग व देवर कैलाश, ससुर रामेश्वर, सास गीतादेवी, नणद सरुपा दहेज में टैक्टर व 5 लाख की मांग को लेकर उसे तंग परेशान करने लगे और उसे कई बार मारपीट कर घर से निकाल दिया, जिस पर मैने मजबूर होकर एक टैक्टर व 5 लाख नकदी भी दिये। सुमित्रा का मुकलावा गत वर्ष किया था सुमित्रा के मुकलावा के बाद से ही सरोज व सुमित्रा को बजरंग व कैलाश व ससुराल वाले 5 लाख और लाने के लिए की मांग को लेकर आए दिन तंग परेशान व मारपीट करने लगे। जिस के लिए समाज के मौजीज व्यक्तियों से दो तीन बार पंचायती भी करवाई।
उसके बावजूद भी सरोज व सुमित्रा के ससुराल वाले पांच लाख रुपए की मांग करते रहे। आज से 6 माह पूर्व सभी ने मेरी दोनों पुत्रियों को मारपीट कर घर से निकाल दिया। जिस पर मेरी दोनों पुत्रियां मजबूर होकर अपने पीहर नोखागांव आ गई। जिस पर मैने लिच्छीराम सियाग, छैलाराम भाम्भू व मेरे बडे भाई पुनमराम को साथ लेकर पंचायती करवाई तो सभी सरोज को ससुराल में रखने को तैयार हुए लेकिन सुमित्रा को 5 लाख की मांग पूरी हुए बिना ससुराल में रखने को तैयार नहीं हुए और सभी अपनी मांग को लेकर अड़े रहे ।
आज से 15 दिन पूर्व सुमित्रा का पति व ससुर उसे ससुराल ले जाने के लिए आये तो सुमित्रा ने हमें कहा कि मेरा पति व ससुराल वाले मुझे 5 लाख रुपए की मांग पूरी हुए बिना ससुराल में मुझे जान से मार देंगें।
जिस पर हमने सुमित्रा को समझा बुझाकर उनके साथ ससुराल भेज दिया। जिसे शुक्रवार की सुबह सुमित्रा के पति कैलाश, जेठ बजरंग, ससुर रामेश्वर, सास गीतादेवी, नणद सरुपा ने 5 लाख रुपए की मांग पूरी नहीं होने के कारण सुमित्रा के साथ मारपीट कर उसे कुण्ड में डालकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच प्रारंभ की।