– नाल थाने का मामला
खुलासा न्यूज़, बीकानेर। ‘आमजन में विश्वास, अपराधियों में भय’ पुलिस का स्लोगन इन दिनों उल्टा प्रेरित हो रहा है। पुलिस द्वारा दर्ज मामलों में कोई ठोस कार्यवाही नहीं करने से अतिक्रणकारियों के हौंसले बुलंद है और पीडि़तों को पिस्तौल से जान से मारने की धमकी देकर डराया-धमकाया जा रहा है। इस संबंध में आज दलित समाज के लोग एसपी प्रदीप मोहन शर्मा को अपना दर्द बताने पहुंचे। एसपी ने दलित समाज के लोगों के दर्द को समझा और आश्वासन दिया कि मामले की जांच निष्पक्ष करवाई जाएगी और शीघ्र ही आरोपियों की गिरफ्तार किया जाएगा।

ओमदाराम मेघवाल, धूड़ाराम, गोविन्दराम ने बताया कि करमीसर गांव में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के पीछे मेघवाल समाज शमशान भूमि पर कब्जा करने वाले आरोपियों के खिलाफ नाल थाने में मुकदमा दर्ज करवाया गया। इसके बावजूद भी पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। उन्होंने बताया कि अपराधी केशुराम सारण के पुत्र खेराजराम, बीरमाराम, उदराम, हुणताराम व गोरधनराम तथा मुस्ताक खां पुत्र नेजू खां, शंकरलालस्वामी व उसका पुत्र राजूराम स्वामी जो लगातार परिवादी पक्ष को जान से मारने की धमकी दे रहे है और कह रहे कि मुकदमा उठवा लो अन्यथा गोली से मार देंगे। साथ ही साथ उन्होंने एसपी से मांग की कि इस मामले में निष्पक्ष जांच करवाकर शीघ्र आरोपियों को गिरफ्तार करवाया जाएगा।