खुलासा न्यूज़, बीकानेर। पंचायत चुनावों के दौरान शराब तस्करी की रोकथाम के लिये इस बार पुलिस और आबकारी मिलकर काम करेंगे। जानकारी में रहे कि हर बार पंचायत चुनाव के दौरान शराब की तस्करी अचानक बढ़ जाती है। इस दौरान कई माध्यमों से शराब की सप्लाई की जाती है तो वोटर्स को डायवर्ड किया जा सके। इस बार तस्करों ने बड़े वाहनों की जगह छोटे वाहनों को तस्करी के लिए चुना है।

तस्कर अक्सर ट्रकों में छुपाकर शराब की तस्करी करते रहे हैं लेकिन अब छोटे वाहनों में शराब की तस्करी शुरू कर दी गई है। तस्करों ने कारों और बाइकों में शराब छुपाकर पहुंचना शुरू कर दिया है। इसकी भनक लगने के बाद आबकारी ने सतकर्ता बढा दी है वहीं पुलिस ने भी तस्करों के खिलाफ कमर कसी है।

तस्करों के छोटे वाहन भी निशाने पर आने लगे हैं। जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा के मुताबिक चुनाव से कुछ समय पहले शराब और अन्य तरह के नशे को पकडने के लिए विशेष अभियान चलाया गया है, पुलिस के साथ अब आबकारी विभाग भी शराब तस्करों के खिलाफ अभियान में शामिल किया गया है।