खुलासा न्यूज़, बीकानेर। सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के 24 घंटे के लिए प्राचार्य बनने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। स्थिति यह बनी हुई है कि अभी तक ना तो डॉ.गुलझारीलाल मीणा जोधपुर गए और ना ही जोधपुर से डॉ.शैतानसिंह बीकानेर आए। शहर में चल रही सीटी स्कैन-एमआरआई गैंग की नापसंदगी की वजह से सारा मामला उलझ चुका है।

… तो इसलिए मीणा को तबादला किया गया जोधपुर
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीएम की नाराजगी के चलते प्राचार्य डॉ. राठौड़ का तबादला हुआ है। मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर्स की मानें तो हाल ही में एमडीएमएच के 120 बैड के आईसीयू के शिलान्यास कार्यक्रम में आए सीएम की तबीयत खराब होने पर कॉलेज प्राचार्य के उनसे नहीं मिलने के कारण उनका तबादला किया गया।  इसी तरह बीकानेर मेडिकल कॉलेज से जुड़े जानकारों का कहना है कि डॉ. गुलझारी लाल मीणा की कार्यशैली के कारण कई डॉक्टर्स नाराज है। यह नाराजगी उस वक्त देखने को मिली जब डॉ. मीणा अपना पदभार ग्रहण कर रहे थे। इस दौरान एक भी वरिष्ठ चिकित्सक दिखाई नहीं दिया। मीणा की नापसंदगी के चलते इन डॉक्टर्स ने मंत्री व सीएम तक शिकायत भी की गई थी।
वहीं शहर में यह भी चर्चा है कि डॉ.गुलझारी मीणा एक ईमानदार व्यक्ति है, जो पीडि़त मानवता की सेवा में सदैव तत्पर रहते है। इसी कारण सीएम डॉ. मीणा को अपने गृहक्षेत्र में ले गए।