>



बीकानेर। रक्तदान महादान की परिकल्पना को साक ार करने के उद्देश्य से बीकानेर ब्लड सेवा समिति निरन्तर पीबीएम में जरूरतमंदों के लिये जीवनदायिनी बनी हुई है। जिसका हर एक सिपाही रक्तदान के जरिये किसी जरूरतमंद रक्तग्राही को जीवन देने की ललक रखता है। शायद यही कारण है कि इसके सदस्यों में से एक शाकिर ने एक सप्ताह के अन्तराल में दूसरी बार किसी की जिन्दगी बचाकर सुकून महसूस कर रहा है। समिति के विक्रम अरोड़ा ने बताया ओ नेगेटिव रक्तवीर शाकिर ने विगत 3 जनवरी को ही एक जरूरतमंद को रक्तदान कर उसकी जिन्दगी बचाई थी और आठ जनवरी को एक बार फिर किसी मरीज के लिये शाकिर संकटमोचक बनकर आया

और उसे जीने का मौका देकर ऊपर वाले का शुक्रिया अदा किया। अरोडा बताते है कि बीकानेर ब्लड सेवा समिति के लगभग 250 सदस्यों से अधिक सदस्यों का एक ही ध्येय रहता है कि वे सेवा भाव को प्रमुखता से निभाते हुए समिति के बनाएं वॉटसएप गु्रप के जरिये जरूरतमंद तक पहुंच जाते है तथा सहायक बनकर रक्त उपलब्ध करवाते है। अरोड़ा ने बताया कि वे आगे भी इसी तरह आमजन की मदद करने का संकल्प निभाते रहेंगे।