>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। बीकानेर एडीएम सिटी शैलेन्द्र देवड़ा की फर्जी मोहर बनाकर फर्जी हस्ताक्षर कर मूल निवास प्रमाण पत्र बनाने का मामला सामने आया है। घटना पर एडीएम ऑफिस से सदर थाने में सुनील योगी नाम के आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया। सदर एसएचओ ऋषिराज सिंह ने बताया कि मामले की जांच उनि पंकज कुमार को दी गई।

सदर पुलिस कर रही मामले की जांच
उनि पंकज कुमार ने बताया कि दाऊलाल नाम के व्यक्ति ने अपना मूल निवास किसी काम से पटवारी को दिया था। पटवारी को मूल निवास पर अंकित हस्ताक्षर व मुहर एडीएम की नहीं लगी। संदेह होने पर पटवारी ने एडीएम को वह मूलनिवास दिखाया तो पता चला कि वह मूल निवास एडीएम कार्यालय आया से नहीं बना। यानी हस्ताक्षर व मुहर फर्जी साबित हुई। जिसके बाद पटवारी ने दाऊलाल को एडीएम के सामने पेश किया तो दाऊलाल ने बताया कि उसे कोर्ट में सुनील योगी नाम का व्यक्ति मिला था उसी ने ये सारा काम करवाने का कहा। इस पर दाऊलाल द्वारा सुनील योगी को मूलनिवास बनाने का कह दिया गया। इसके बाद एडीएम ऑफिस मामला दर्ज करवाया गया था। पंकज कुमार ने बताया कि आज शाम सात बजे दाऊलाल के बयान करवा दिए गए हैं।

आरोपित के बारे में नहीं चला है पता
अब आरोपी सुनील योग की तलाश शुरू की गई है। फिलहाल किसी को सुनील योगी के बारे में कुछ नहीं पता है। बताया जा रहा है कि दाऊलाल को वह व्यक्ति कोर्ट में मिला था, तथा उसको शक्ल से ही जानता है।