खुलासा न्यूज़, बीकानेर संभाग  । श्रीगंगानगर निकटवर्ती गांव मिर्जेवाला में शनिवार को पुलिया विवाद में एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई। आरोपियों ने हमला उस समय किया जब व्यक्ति अपने भतीजे के साथ खेत पर जा रहा था। मौत के बाद पुलिस ने शव श्रीगंगानगर के अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। जहां पोस्टमार्टम के बाद इसे परिजनों को सौंप दिया गया। इस मामले में कार्रवाई की मांग के संबंध में परिजनों ने गांव के बाहर शव के साथ धरना लगा दिया।

इस संबंध में मृतक के भतीजे विनोद कुमार पुत्र भूपसिंह ने परिवाद दिया है। इसमें कहा गया है कि उसकी कृषि भूमि चक आठ एफ में है, वहीं आरोपी के परिवार की भूमि आठ एफ बड़ा में है। दोनों परिवारों में रंजिश है। विनोद ने बताया कि शनिवार को वह अपने चाचा लालचंद के साथ खेत जा रहा था। रास्ते में सोहनलाल, सुदेश, भूप, दलीप व छह सात अन्य हथियारबंद लोगों ने उन्हें रोक लिया तथा लाठी डंडों से पीट-पीटकर उसके चाचा लालचंद की हत्या कर दी। विनोद ने बताया कि आरोपियों ने उसे भी पीटा, शोर मचाने पर पास के खेत में काम कर रहेे आदराम, प्रभुदयाल और अनिरुद्ध आए और आरोपियों को ललकारा। इस पर आरोपी मौके से फरार हो गए।

शव को ले पहुंचे श्रीगंगानगर के अस्पताल
घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव श्रीगंगानगर के सरकारी अस्पताल पहुंचाया। जहां पोस्टमार्टम के बाद इसे परिजनों को सौंप दिया गया। परिजन शव को लेकर गांव पहुंचे लेकिन आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव के साथ गांव के बाहर धरना लगा दिया। देर रात तक परिजनों का धरना गांव के बाहर जारी था।

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कर रहे प्रयास
इस मामले में मटीली राठान थाना के रामभज ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। सोहनलाल, सुदेश, दलीप, भूप आदि के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। परिजनों से धरना हटाने के लिए समझाइश की जा रही है।