विधायक को जो धोरां धरती के किसान की पीड़ा की पौटली लाद विधानसभा पहुंचे, बीकानेर संभाग में प्रोफेसर केदार, मानिकचंद सुराणा , कॉमरेड श्योपत सिंह और देवीसिंह भाटी के बाद बिहारी बिश्नोई ने फिर उस उम्मीद को जगाया है  

खुलासा न्यूज़, जयपुर। टिड्डियों के सियासी कहर से आज राज्य की विधानसभा भी अछूती नहीं रही. बीजेपी विधायक बिहारी लाल विश्नोई और संतोष बावरी टिड्डियों से भरा टोकरा लेकर विधानसभा पहुंच गये। इन्होंने आरोप लगाया कि टिड्डी से किसानों और फसलों को भारी नुकसान पहुंचा लेकिन कांग्रेस सरकार राहत नहीं पहुंचाई. उधर मुख्य सचेतक महेश जोशी ने टिड्डियों से भरा टोकरा लाने को विधानसभा और विधायकों की सुरक्षा के लिये खतरा बताया। उप मुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी ने इसे सस्ती लोकप्रियता बताया. घटनाक्रम की विधानसभा के सुरक्षा अधिकारियों ने जांच शुरू कर दी।

टिड्डियों के कहर से राहत नहीं पहुंचाने का लगाया आरोप
विधानसभा के इतिहास में आज पहली बार हुआ जब कोई विधायक जिंदा टिड्डियां ले आया. टिड्डियों से भरा टोकरा लेकर बीजेपी के विधायक बिहारी लाल विश्नोई विधानसभा के पश्चिमी गेट तक पहुंच गये. विश्नोई का साथ देने विधायक संतोष बावरी भी पहुंच गई. आरोप लगा दिया कि टिड्डियों के कहर से परेशान किसानों को कांग्रेस सरकार ने राहत नहीं पहुंचाई।

विधानसभा की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े कर दिये
बहरहाल टिड्डियों के टोकरे ने विधानसभा की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े कर दिये. विधानसभा के सुरक्षा अधिकारियों को जांच के लिये कहा गया है कि आखिर कैसे जिंदा टिड्डियां विधानसभा के पश्चिमी गेट तक पहुंच गई इनसे विधानसभा के विधायकों, कार्मिकों को हानि हो सकती थी. सुरक्षा में सेंध की बात भी सामने आ रही है. इतिहास गवाह है कि एक बार पुरानी विधानसभा में कॉमरेड विधायक श्योपत सिंह एक लाश लेकर पहुंच गये थे.. हंगामा बरप गया था.. मुख्य सचेतक महेश जोशी, उप मुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी ने कहा कि बिहारी लाल विश्नोई का कृत्य सस्ती लोकप्रियता के लिए दूसरे लोगों की आफत लाने वाला था इससे विधानसभा की गरिमा को ठेस पहुंची।

पाकिस्तान से कम्युनिकेशन गेप के कारण नुकसान हो रहा:
राजस्थान सरकार में जलदाय और ऊर्जा मंत्री डॉ बीडी कल्ला ने बीजेपी विधायकों के अनोखे विरोध पर कहा कि ये तो अपनी सरकार का राजफाश कर रहे टिड्डी रोकने का काम केन्द्र का लेकिन पाकिस्तान से कम्युनिकेशन गेप के कारण नुकसान हो रहा. कल्ला ने विपदा का कारण कम्युनिकेशन गेप माना।

टिड्डियों के आतंक की सियासत ने सियासत को गरमा दिया
टिड्डियों के आतंक की सियासत ने विधानसभा के अंदर सियासत को गरमा दिया है. सुरक्षा पर भी सवाल खड़े हो गये…जाहिर सियासत थमने वाली नहीं है।