>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। एम.एस. कॉलेज की छात्रा के साथ हुई हैवानियत निर्भयकांड से भी घिनौना कदम है। इस कांड से बीकाणे में इकबाल के बिखरने का सबसे बड़ा विस्फोट है। शांत शहर की पहचान रखने वाले बीकानेर की सारी धारणाएं बिखेर कर रख दी है। अब हालात यह है कि बीकानेर में गम और गुस्से का माहौल है। इस बीच उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी ने बताया कि बीकानेर में बालिका के साथ हुए अमानवीय कृत्य व हत्या होना अत्यंत दुखद है । भाटी ने कहा कि बीकानेर जैसे शांतिप्रिय शहर में इस तरह का कृत्य करने वाले अपराधियों को बिल्कुल भी बक्सा नही जाएगा । इस संबंध में महानिदेशक पुलिस राजस्थान व महानिरीक्षक पुलिस बीकानेर से दूरभाष पर वार्ता की तथा दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश दिए । राज्य सरकार हर संभव मदद के लिए पीडि़त परिवार के साथ है तथा पीडि़त परिवार की मदद के लिए संकल्पित है ।

इंतजार करते रहे प्रदर्शनकारी, फिर भी नहीं आए एसपी
प्रदर्शन में शामिल महिलाओं व युवतियों का आरोप है कि मर्दाना पुलिस ने उनके साथ धक्का मुक्की की। वहीं एक आरोप है कि इस दौरान पुलिस कर्मी द्वारा युवती के गलत जगह हाथ भी लगा। बता दें आज दिन में हुए प्रदर्शनों के दौरान एसपी नहीं आए और नहीं ही उन्होंने ज्ञापन लिया। इसी बात से नाराज लोग कैंडल मार्च के रूप में एसपी कोठी पहुंचे। कुछ समय इन्तजार करने के बाद भी एसपी नहीं आए। इसके बाद पुलिस के कहने पर प्रदर्शनकारी कलेक्टर कोठी की ओर बढ़े। इसी दौरान लाठी चार्ज की घटना हुई। पुलिस ने जब लोग को खदेडऩा शुरू किया तो हजारों लोग तितर-बितर हो गए।

सरपंच पति सहित दो गिरफ्तार, पूछताछ में जुटी पुलिस
सदर थाना क्षेत्र में रहने वाल एक लड़की के साथ कुछ लोगों ने पहले गैंगरेप किया बाद में उसकी हत्या कर शव को नहर में फैंक आये। इस मामले में सदर पुलिस ने सदर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सीआई भोजराज सिंह से मिली जानकारी के अनुसार राजासर भाटियान का सरपंच पति सुमेर सिंह व जालौर जिले का बृजपाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल इन आरोपियों से गहनता के साथ पुलिस पूछताछ कर रही है। सीओ भोजराज सिंह ने बताया कि फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई नहीं है, आज शाम तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ जाएगी उसके बाद पूरी सच्चाई सामने आएगी। बता दें कि सोमवार को लूणकरणसर के मलकीसर पंपिंग स्टेशन मिला था। जिसकी गुमशुदगी परिजनों ने सदर पुलिस थाने में दर्ज करवाई थी। परिजनों ने शव की शिनाख्त करने के बाद बृजपाल, सुमेर सिंह, मोहित बिश्नोई के खिलाफ धारा 363, 376डी, 302 के तहत मामला दर्ज करवाया था।