>


नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से देश में आर्थिक संकट से अभी तक अधिकतर सेक्टर उबर नहीं पाए हैं। वहीं आम लोगों की नौकरी जाने का भी सिलसिला लगातार जारी है। ऐसे में आरबीआई मोराटोरियम बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। आरबीआई इस मामले में गहरा मंथन कर रही है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो आरबीआई दिसंबर तक लोन मोराटोरियम एक्सटेंशन कर सकती है। आपको बता दें कि आरबीआई ने पिछली बार लोन मोराटोरियम को 3 महीने और बढ़ाकर 31 अगस्त कर दिया था। जानकारों के अनुसार इस बारे में आरबीआई किसी तरह की जल्दी करने के मूड में नहीं है। सभी पक्षों से बातचीत करने में जुटा है।
31 दिसंबर तक बढ़ सकता है लोन मोराटोरियम मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि लोन मोरोटोरियम को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है, लेकिन आरबीआई की ओर से सभी पक्षों से बातचीत कर रहा है। सूत्रों का यहां तक कहना है कि आरबीआई वैसे लोन मोराटोरियम को एक्टेंड करने का मन बना चुका हैै। जिसे 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ाने की संभावना दिखाई दे रही है। जानकारों की मानें तो कई सेक्टर्स की ओर से आरबीआई पर राहत देने का दबाव बना जा रहा है। जिसकी वजह से आरबीआई को उक बार फिर से लोन मोराटोरियम देने के बारे में गंभीरता से विचार कर रहा है।
इन सेक्टर्स में अभी भी हालत है खराब
देश में सबसे ज्यादा खराब स्थिति ऑटोमोबाइल्स और एविएशन सेक्टर की देखने को मिल रही है। वहीं हॉस्पिटैलनिटी और सर्विस सेक्टर भी काफी खराब स्थिति में चल रहे हैं।सभी सेक्टर्स का काम ठप पड़ा है, जिसकी वजह से या तो कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जा रहा है या फिर विदाउट पेड लीव पर भेजा रहा है। यहां तक कि सैलरी में भी 40 से लेकर 60 फीसदी तक की कटौती की जा रही है। हाल ही में एविएशन मिनिस्ट्री के कहने पर सरकारी एयरलाइन एअर इंडिया के कर्मचारियों की सैलरी में 50 फीसदी से ज्यादा की कटौती कर दी है। ऐसे में आरबीआई पर लगातार दबाव देखने को मिल रहा है।