>



वाहन मालिकों को डरा-धमकाकर मासिक बंधी वसूलने का खुलासा
बड़े पैमाने पर प्राइवेट दलालों के जरिए ली जा रही थी मासिक बंधी
वाहनों की लिस्ट बनाकर ली जा रही थी मासिक बंधी
– अगर बीकानेर में भी परिवहन विभाग के अधिकारी आपसे वसूली करते है तो खुलासा न्यूज़ को बताइए और एसीबी में शिकायत कीजिए
खुलासा न्यूज़, बीकानेर। छुट्टी के दिन एसीबी ने बड़ा धमाका किया। एसीबी ने परिवहन विभाग में दलालों के जरिये वाहन मालिकों को डरा-धमकाकर मासिक बंधी वसूलने का खुलासा किया, एसीबी ने परिवहन निरीक्षक को दलाल से चालीस हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा, दलाल के पास से परिवहन के दूसरे अधिकारियों को देने के लिए एक लाख बीस हजार रुपए जब्त किए है इसके बाद एसीबी ने परिवहन विभाग के सात अधिकारियों और नौ दलालों को पकड़कर तलाशी अभियान चलाया था। इसमें अब तक एक करोड़ बीस लाख रुपए नगद, प्रोपर्टी के दस्तावेज तथा दलालों के पास से रिश्वत की लेनदेन की सूचियां सहित अन्य महत्वपूर्ण सबूत जुटाए है। एसीबी महानिदेशक आलोक त्रिपाठी ने बताया कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को परिवहन विभाग के अधिकारियों की ओर से दलालों के जरिये वाहन मालिकों को डरा-धमकाकर मासिक बन्धी के रूप में रिश्वत राशि प्राप्त करने की सूचना मिली। इस पर मुख्यालय स्तर पर गोपनीय सत्यापन किया गया। संदिग्ध आरोपियों के गोपनीय रूप से किए गए सत्यापन से पता चला कि परिवहन विभाग के अधिकारियों की ओर से दलालों के जरिए कॉमर्शियल वाहनों और बसों को चलाए जाने के लिए वाहन संचालकों को धमका कर प्रतिमाह रिश्वत राशि मासिक बन्धी के रूप में ले रहे थे। सत्यापन के बाद तकनीकी और टीम को पीछे लगाकर निगरानी रखी गई। तनुश्री लॉजिस्टिक और अन्य मध्यस्थ दलालों की ओर से फरवरी माह की मासिक बन्धी के रूप में परिवहन अधिकारियों को रिश्वत राशि 16 फरवरी को भुगतान किए जाने संभावना को देखते हुए परिवहन विभाग के अधिकारी डीटीओ शाहजहांपुर गजेन्द्र सिंह, डीटीओ चौंमू विनय बंसल, डीटीओ मुख्यालय महेश शर्मा तथा परिवहन निरीक्षक शिवचरण मीणा, उदयवीर सिंह, आलोक बुढानिया, नवीन जैन रतनलाल को पकड़कर उनके ठिकानों की तलाशी ली।