>



बीकानेर। जिले में कौशल विकास मंत्रालय, भारत सरकार के सौजन्य से बीकानेर प्रौढ़ शिक्षण समिति द्वारा संचालित जन शिक्षण संस्थान के प्रबंध मंडल के पुनर्गठन की स्वीकृति भारत सरकार द्वारा प्राप्त हुई है। समिति के अध्यक्ष डॉ. श्रीलाल मोहता ने बताया कि कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा किए गए जन शिक्षण संस्थान के प्रबंध मंडल के इस पुनर्गठन के अनुसार अविनाश भार्गव को संस्थान का अध्यक्ष मनोनीत किया गया है। भार्गव के नेतृत्व में गठित इस प्रबंध मंडल की कार्यावधि आगामी तीन वर्ष के लिए निर्धारित की गई है।

उल्लेखनीय है कि जन शिक्षण संस्थान के पुनर्गठित इस प्रबंध मंडल में अध्यक्ष के अतिरिक्त अन्य पांच गैर कार्यालयी सदस्य एवं आठ कार्यालयी सदस्यों सहित 16 सदस्य मनोनीत किए गए हैं। इस प्रबंध मंडल में गैर कार्यालयी सदस्यों में एडवोकेट गिरिराज मोहता,डॉ. दीपाली धवन,डॉ. संगीता पुरोहित, उद्यमी कमल कल्ला व मोहिनीदेवी देवाणी एवं एडवोकेट भागीरथ राम कालवा का मनोनयन किया गया हैं। आठ कार्यालयी सदस्यों में संयुक्त सचिव, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय, भारत सरकार, जनरल मैनेजर द्वितीय, आरएसएलडीसी जयपुर, लेखाधिकारी, जिला परिषद, बीकानेर, जिला शिक्षा अधिकारी(माध्यमिक), बीकानेर, यांत्रिकी प्रवक्ता, पोलोटेक्निक कॉलेज, बीकानेर, लीड बैंक अधिकारी, बीकानेर, जिला उद्योग अधिकारी, बीकानेर, श्रीमती अल्का अग्रवाल, प्राचार्य, राजकीय बालिका उच्च मा. विद्यालय, नत्थुसर बास और निदेशक, जन शिक्षण संस्थान मनोनीत किए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि समिति द्वारा संचालित जन शिक्षण संस्थान द्वारा सन् 2001 से बीकानेर के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निरक्षरों, नवसाक्षरों, अल्पशिक्षितों एवं सामाजिक एवं आर्थिक रूप से वंचित वर्ग के लोगों के लिए कौशल विकास कार्यक्रमों एवं राष्ट्रीय सरोकार की गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है।