>


बीकानेर। बीकानेर संभाग का चूरु चूरू जिला महिलाओं की खरीद-फरोख्त की मंडी बनता जा रहा है. गत 6 महीनों में यहां मानव तस्करी से जुड़े करीब 1 दर्जन से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. रविवार को फिर एक ऐसा ही मामला सामने आया है.
महिलाओं की खरीद-फरोख्त की मंडी बना ‘चूरू’, महिला को बंधक बनाकर किया 2 साल तक रेप कोलकाता की महिला को चूरू में 70 हजार रुपए में बेचा गया.
चूरू जिला महिलाओं की खरीद-फरोख्त की मंडी बनता जा रहा है. गत 6 महीनों में यहां मानव तस्करी से जुड़े करीब 1 दर्जन से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. रविवार को फिर एक ऐसा ही मामला सामने आया है. इस मामले में कोलकाता की महिला को 70 हजार रुपए में चूरू में बेचा गया. यहां उससे जबरन शादी कर 2 साल तक बंधक बनाकर रेप किया गया.
महिला थाने में दर्ज हुआ मामला
महिला के साथ अत्याचार का सिलसिला यहीं नहीं थमा, बल्कि आरोपी ने पीडि़ता के गर्भवती होने पर दवाइयां देकर उसका गर्भपात तक करवा दिया. महिला थाना पुलिस ने पीडि़ता की रिपोर्ट पर आईपीसी की धारा 323, 370, 376(2) और 384 सहित विभिन्न संगीन धाराओं में मामला दर्ज किया है. पीडि़ता का चूरू के राजकीय भरतिया अस्पताल में मेडिकल करवाया गया है.
70 हजार रुपए में बेचा गया पीडि़ता को
पुलिस के अनुसार 2 साल पहले कोलकाता के मुन्ना नाम के शख्स ने साजिश रचकर वहां की 28 वर्षीया महिला को चूरू जिले के जगदीश शर्मा को 70 हजार रुपए में बेच दिया. आरोपी ने महिला से जबरन शादी कर उसे एक कमरे में बंधक बनाकर रखा. उसके बाद पीडि़ता से मारपीट कर जबरन उससे रेप करता रहा. देह शोषण का यह सिलसिला दो साल तक चलता रहा. आरोप है कि इस दौरान जब पीडि़ता गर्भवती हुई तो आरोपी ने उसकी जांच करवाकर यह जान लिया कि उसके गर्भ में बेटी है.
पीडि़ता का करवाया गर्भपात
गर्भ में बेटी का पता चलने पर जगदीश ने अपनी भाभी के साथ मिलकर पीडि़ता को दवा देकर उसका गर्भपात करवा दिया. अब पीडि़ता किसी तरह से आरोपी के चंगुल से निकलकर महिला थाना पहुंची और पुलिस अधिकारियों को आपबीती बताई. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया जांच शुरू कर दी है. चूरू में इससे पहले भी महिलाओं की खरीद-फरोख्त के कई मामले सामने आ चुके हैं।