>


श्रीगंगानगर। रोजड़ी स्थित एक पेट्रोल पम्प कर्मियों के साथ मारपीट करने, लूटपाट करने तथा बाद में पुलिस पर प्राणघातक हमला करने के चार साल पूर्व दर्ज हुए मामलें में गिरफ्तार बापर्दा आरोपी की जेल में शिनाख्त होगी। शिनाख्ती परेड के लिए अदालत ने एसडीएम संजू पारीक को मजिस्ट्रेट नियुक्त किया है। अदालत ने 3 सितम्बर से पहले अनूपगढ़ कारागृह में शिनाख्ती कार्रवाही कराने के आदेश पारित किए हैं। अदालत के आदेश मिलने के बाद पुलिस शिनाख्ती कार्रवाही के लिए एसडीएम को अवगत करा कर तारीख तय करने का आग्रह किया है।जांच कर रहे द्वितीय थानाधिकारी जीयाराम हटीला ने बताया कि लगभग चार साल पूर्व 2 सितम्बर 2015 रात्रि को रोजड़ी गांव के पास स्थित भाम्भू फिलिंग स्टेशन पर बीकानेर के कुछ लोगों ने किसी गाड़ी को कब्जे में करने के लिए रैकी की। इस पर पम्प कर्मियों ने पूछताछ की तो तीन गाडिय़ों में सवार लोगों ने धारदार हथियारों से हमला कर दिया। हमले में अमित व गगन को चोंटे लगी। वहीं पम्प कर्मचारी रतनसिंह पर प्राण घातक हमला करने के बाद घायल का अपहरण कर लिया था। फिल्मी स्टाईल में हुई चर्चित वारदात का पम्प के अन्य लोंगो व ग्रामीणों ने पीछा किया। पम्प मालिक सरपंच एशोसिएशन अध्यक्ष विजेन्द्र भाम्भू ने पुलिस को सूचना दी। जिस पर तत्कालीन उपनिरीक्षक छीतरमल मीणा सहित अन्य पांच छह पुलिस कर्मियों ने पीछा किया। बीकानेर के पास आरोपियों को घेर लिया। घड़साना पुलिस की सहायता के लिए बीकानेर के बींछवाल पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। इससे पहले घड़साना पुलिस पर आरोपियों ने हमला कर दिया। पुलिस को जान से मारने के प्रयास में गाड़ी भी पीछे लगाई। किसी तरह पुलिस कर्मी बच कर भाग निकले