>


बीकानेर। जिला कलेक्टर कुमार पाल गोतम के पास लगातार पंचायत समितियों में गबन के मामले प्रकाश में आ रहे है। कलेक्टर साहब तुरंत इन पर कार्यवाही करते है। ऐसा ही मामला जिले की बड़ेरणा पंचायत समिति का सामने आए है। गुरुवार को मनोहरियां गांव के ग्रामीणों ने कलेक्टर से मिलकर गबन के बारे में जानकारी दी उन्होंने बताया कि सरपंच ने बडेरण व मनोहरियां में स्वीकृत कार्य को बिना कराये ही भुगतान प्राप्त कर लिया है। बडेरण  पंचायत समिति में पिछले साल करोड़ रुपये का काम जारी हुए लेकिन सरपंच ने ठेकेदार के साथ मिलकर एक भी काम गांव में नहीं करवाया और भुगतान उठा कर करोड़ों रुपये डकार लिये है।
ये काम जारी हुए
ग्रेवल सड़क स्वीकृत राशि 26.28, ग्रेवल सड़क मनोहरिया से नत्थुदार के मंदिर तक स्वीकृत राशि 26.28, नेक मोहम्मद के खेत से भोजराज मार्ग तक स्वीकृत राशि 26115 लाख व मनोहरिया से गुंसाईसर तक सड़क निर्माण स्वीकृत राशि 25.28 लाख राशि व वर्षा पानी निकासी एवं स्वच्छता मय नाली निर्माण स्वीकृत राशि 1.15 लाख रुपये स्वीकृत किये गये लेकिन मौके पर एक भी कार्य नही हुआ सिर्फ कागजी खानापूर्ति की गई। इस तरह से सरंपच ग्राम पंचायत बडेरण द्वारा सरकारी कोष का फर्जी तरीके से भुगतान उठाकर गबन कर लिया तथा सरकारी कोष को आर्थिक नुकसान पहुंचाया है। ग्रामीणों ने बताया कि सरपंच सरवीना बानो ग्राम में ई मित्र एवं बैक कर्मचारियों के साथ मिलकर गबन किया है।
ग्रामीणों ने अब तक इसकी शिकायत एसीबी बीकानेर, एसीबी जयपुर व पंचायत समिति लूणकरनसर व जिला कलक्टर बीकानेर तक कर चुके है लेकिन आज तक शिकायतों पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है।
गुरुवार को कलेक्टर से मिले ग्रामीण
गुरुवार को मनोहरिया गांव के ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर कुमार गोतम पाल को ज्ञापन देकर शिकायतों को विस्तार पूर्वक बताया कि किस प्रकार से काम नहीं करके रुपये उठा कर सरकार कोष को नुकसान पहुंचाया है। कलेक्टर ने उनको आश्वासन दिया कि जल्द ही उचित कार्यवाही की जायेगी।