>


जयपुर। राजस्थान में सियासी संकट के बीच सोमवार से विधानसभा सत्र बुलाया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि 27 जुलाई से विधानसभा सत्र बुलाया जा सकता है। जाहिर है सचिन पायलट और कांग्रेस के 18 अन्य विधायकों ने राजस्थान हाइ कोर्ट में उन्हें अयोग्य घोषित किए गए नोटिस के खिलाफ याचिका दायर की है। इस मामले में 24 जुलाई को फैसला आना है। तब तक विधानसभा स्पीकर विधायकों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर सकेंगे।
विधानसभा स्पीकर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट दलीलें सुन रही
वहीं विधानसभा स्पीकर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट दलीलें सुन रही है। स्पीकर सीपी जोशी ने राजस्थान हाईकोर्ट के द्वारा विधायकों पर एक्शन ना लेने के निर्देश देने के खिलाफ सर्वोच्च अदालत का दरवाजा खटखटाया है। हाईकोर्ट के निर्देश के मुताबिक, स्पीकर 24 जुलाई तक बागी विधायकों पर कोई फैसला नहीं ले पाएंगे।
सुनवाई पर सभी की नजरें
विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी की दलील है कि अभी उन्होंने विधायकों को सिर्फ नोटिस दिया है, कोई फैसला नहीं लिया है. ऐसे में अदालत की ओर से स्पीकर के कामकाज में दखल नहीं दिया जा सकता है, ये संविधान और सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन्स के खिलाफ है। इस याचिका पर सुनवाई से पहले सचिन पायलट गुट ने भी कैविएट लगा दी है, अपील है कि बिना उनका पक्ष सुने फैसला ना दिया जाए।