>


एशियाड सर्कस को शुभारंभ कल
बीकानेर। देश दुनिया में अपनी कला का लोहा मनवा चुके सर्कस कलाकार शनिवार से बीकानेर में अपने हैरत अंगेज क ारनामों से सभी को रोमांचित करेंगे। मेडिकल कॉलेज ग्र्राउड में एक माह तक चलने वाले एशियाड सर्कस रोजान तीन शो में दिखाया जाएगा। मैनेजर अनिल खत्री ने बताया कि दोपहर एक,शाम चार और देर शाम 7.30 बजे चलने वाले इस शो में देशी कलाकारों के साथ साथ अफ्रीकन कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने बताया कि फूल एयरकूल्ड सर्क स हॉल में नये नये खेलों के साथ साथ हंसी ठिठोली भी होगी। नेपाल,बंगाल,आसाम के सौ कलाकार ईटा बैलेंस,रशियन रिंग डॉस,निशानेबाजी का बेहतरीन खेल,मौत के गोले में तीन बाईकरों का कमाल,फ्लाईंग ट्रपिज (हवाई झूला)साडी बै ंलेस,एशियन स्केटिंग,बोनलेस गर्ल,कैंडल बॉयनेस,डॉग शो,आस्ट्रेलियन पैरट शो,स्प्रिंग नेट इत्यादि खेलों का रोमांच देखने को मिलेगा। सहायक मैनेजर शिव बहादुर सिंह चौहान ने बताया कि आज के इस दौर में सर्कस जैसी बड़ी व्यवस्था को चलाना बहुत चुनौतीपूर्ण कार्य है। सैकड़ों लोगों की आजीविका इससे जुड़ी हुई है। ऐसे में इनकी कला एवं जान की जोखिम के साथ दिखाए जाने वाले करतब अब बहुत दुर्लभ होते जा रहे हैं। इसके बावजूद देश के विभिन्न क्षेत्रों से अलग-अलग कलाओं में पारंगत कलाकारों को सर्कस से जोड़कर ये प्राचीन समय की कला जीवंत रखने का प्रयास कि या जा रहा है। पुरानी कलाओं के साथ-साथ आधुनिक तरीकों को भी कलाकार निरंतर अभ्यास कर अपना रहे हैं। अगर सरकार इस कला को संरक्षण प्रदान कर सर्कस लगाने पर रियायत दे तो इसको बचाया जा सकता है।