>


खुलासा न्यूज़, बीकानेर। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (mamta banarjee) ने हड़ताली डॉक्टरों की सभी मांगें मान ली हैं। सोमवार (17 जून, 2019) शाम नवन्ना में जूनियर डॉक्टरों के साथ हुई मुलाकात में उन्होंने कोलकाता पुलिस कमिश्नर अनुज शर्मा को हर अस्पताल में नोडल पुलिस अधिकारी तैनात करने के निर्देश दिए। दीदी ने इसके अलावा डॉक्टरों का वह प्रस्ताव भी स्वीकार लिया है, जिसमें सरकारी अस्पतालों में शिकायत निवारण प्रकोष्ठ गठित करने की बात शामिल है।

जुट गए इलाज में

हड़ताल के समाप्त होने की सूचना के साथ ही बीकानेर (Bikaner) में लगभग सभी चिकित्सा सेवाएं पुन: प्रारंभ हो गई। डॉक्टर्स मरीजों के इलाज में जुट गए। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन बीकानेर जिलाध्यक्ष डॉ. अबरार पंवार ने बताया कि बीकानेर में भी समस्त सरकारी एवँ प्राइवेट हॉस्पिटल्स में रूटीन ओपीडी का बहिष्कार किया गया। समस्त निजी चिकित्सालयो ने भी अपने संस्थान बंद रख कर विरोध जताया गया। चिकित्सको के साथ आये दिन होने वाली हिंसात्मक घटनाओं के विरोध में देशभर के चिकित्सक आक्रोशित व्याप्त है।