बीकानेर. अंतरराज्यीय गिरोह के बदमाश अगर एक राज्य से दूसरे राज्य की सीमा में घुसने की कोशिाश करेंगे तो पकड़े जाएंगे। राजस्थान और हरियाणा पुलिस मिलकर इस पर काम कर रही है। दोनों राज्यों की पुलिस अंतरराज्यीय समन्वय समिति ने सीमावर्ती इलाकों में आमजन, बीएसएफ, सेना और सीआरपीएफ से भी मदद ले रही है। बदमाशों के राज्य के प्रवेश पर रोक एवं धरपकड़ के लिए पूरे क्षेत्र पर निगरानी रखने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए होटलों, ढाबों, पेट्रोल पंप, एज्युकेशन सेंटर एवं महत्त्वपूर्ण धार्मिक स्थलों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए जा रहे हैं। समन्वय समिति का प्रभारी श्री गंगानगर एसपी और सहप्रभारी राजगढ़ एएसपी को बनाया गया है। बीकानेर रेंज आईजी जोस मोहन ने हार्डकोर बदमाशों को पकडऩे के लिए नई टीम बनाई है। टीम ने अपराधियों की सूची बनाई है, जिसे पंजाब पुलिस को सौंपा गया है। सूची में ऐसे अपराघियों को शामिल किया है जो प्रदेश के टॉप-10 में शामिल है तथा कुछ ऐसे अपराधी जिन्होंने राजस्थान में वारदात की और पंजाब चले गए जो आज तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़े हैं । वहीं पंजाब पुलिस ने राजस्थान पुलिस को भी एक सूची सौंपी है जो पंजाब में वारदात कर राजस्थान भाग गए हैं। पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ के लिए पूरे प्रदेश में इनकी सूचना भिजवाई है
बीएसएफ सेना और आमजन का ले रहे सहयोगपुलिस ने अंतरराज्यीय अपराधियों की गतिविधियों और प्रदेश में आगमन पर रोक के लिए योजना बनाई है। पुलिस ने अंतरराज्जीय सीमा से सटे गांव, होटलों-ढाबों सहित धार्मिक स्थलों को चिन्हित किया है। इन जगहों पर एजुकेशन सेंटर, होटल-ढाबे, पेट्रोल पंप, टोल प्लाजा पर सीसीटीवी कैमरे लगवाने के लिए संचालकों को प्रेरित कर रही है ताकि कोई अपराधी वारदात कर राजस्थान से पंजाब और पंजाब से राजस्थान जा रहे हो तो वह कैमरे की निगरानी में आ सके । पुलिस इसके लिए सेना और बीएसएफ का सहयोग ले रही है
आइजी की स्पेशल टीम का मुख्य उद्देश्य हथियार तस्करी, अवैध शराब, ड्रग्स और संगठित अपराध सहित जेल से संचालित गतिविधियों पर निगरानी रखना और उनकी रोकथाम करना है। टीम के प्रभारी श्रीगंगानगर एसपी हेमंत शर्मा और राजगढ़ एएसपी सहायक प्रभारी सहित तकरीबन 100 से अधिक सदस्य शामिल है। यह सदस्य प्रभारी से कॉर्डिनेट कर बड़ी वारदात की सूचना आइजी को
स्थानीय पुलिस बल को कर रहे मजबूत
बाहरी अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए मख्य रूप से स्थानीय पुलिस बल को मजबूत किया जा रहा है। सीमावर्ती इलाकों के थाना कर्मचारियों को संबल प्रदान कर रहे है। श्रीगगंगानार, हनुमानगढ़, हिसार, भठिंडा, फिरोजपुर, चूरू में सीमा से सटे थानों को मजबूत किया जा रहा है
50 से अधिक हार्डकोर अपराधी पकड़े
अंतरराज्यीय समन्नय समिति के प्रयास से अब तक 50 से अधिक हार्डकोर अपराधी पकड़े जा चुके हैं। इनमें महाजन थाने में चार, नागौर तीन, श्रीगंगानगर 10, हनुमानगढ़ में चार, बीकानेर में 7, वहीं पंजाब में अंकित भादू के गुर्गे, सुक्खा गैंग के कई सदस्य पकड़े जा चुके हैं।
स्पेशल कमांडो टीम भी बनाई प्रदेश में दूसरे राज्यों के अपराधियों के आवागमन और उनकी गतिविधियों पर रोक के लिए अंतरराज्जीय समन्वय समिति के साथ एक स्पेशल कमांडो की टीम गठित की गई है जिसका प्रभारी श्रीगंगानगर एसपी और सहायक प्रभारी राजगढ़ एएसपी को बनाया गया है। संगठित अपराध शराब तस्करी, नशा, अवैध हथियार और जेल से संचालित होने वाले अपराधों पर रोकथाम के लिए विशेष काम किया जा रहा है
् जोस मोहन, आइजी बीकानेर रेंज