>


– फिलहाल पीबीएम ट्रोमा सेंटर में भर्ती है दो युवक
खुलासा न्यूज़, बीकानेर। नोखा के हंसासर गांव के पास शनिवार को दो युवकों ने दो नाबालिग लड़कियों को गाड़ी में डालकर अपहरण कर उनके साथ बलात्कार करने के मामले में नया मोड़ सामने आया है।
मुल्जिम के पिता रामसिंह पुत्र मानसिंह राजपूत ने नोखा थाने में दी रिपोर्ट में बताया कि कल शाम को मेरे बेटा दुर्जनसिंह व मनीष पुत्र सुन्दलाल जो कि मेरी गाड़ी लेकर नोखा आए थे। इसके बाद शाम को लड़के ने फोन किया किया व बताया कि हमारे साथ मारपीट ज्यादा हो गई है। आप नोखा आइये। इसके पश्चात नोखा अस्पताल पहुंचे तो लड़के के सिर में चोट लगी हुई थी और खून बह रहा था व दाहिने पैर बुरी तरह से टूटा हुआ था।

रिपोर्ट में यह भी बताया कि मेरा बेटा जब अपनी गाड़ी लेकर चौराहे पहुंचे तो हमारी गाड़ी के पीछे एक बोलेरो गाड़ी लग गर्ई जो हमारे आगे पीछे चली। क्ंवलीसर बस स्टैण्ड पर उक्त बोलेरों गाड़ी ड्राईवर ने हमारी गाड़ी के आगे लगा दी जिसमें करीब 8 व्यक्ति थे और उसमें जसवीर सिंह पुत्र हनुमानसिंह, रणवीरसिंह पुत्र सुमेरसिंह, हरिसिंह पुत्र सुर्जनसिंह राजपूत व राजुराम पुत्र माणकराम सोनी व ओमप्रकाश पुत्र आईदानाराम सोनी व तीन चार अन्य व्यक्ति थे हमें मारने का सक होने पर हमने हमारी गाड़ी शेखासर की तरफ घुमा दी।

बीच रास्ते सभी गाडिय़ा हमारा पीछा करने लगी जब हम गोदारों की ढाणी के पास पहुंचे तो वहां पर एक चार टायरों की टैक्सी खड़ी थी व रोड पर पत्थर लगवाये हुए थे हमने गाड़ी साइड से निकाली तो हमारी गाड़ी का मेन सीसा तोड़ दिया फिर हमने गाड़ी सेंगाल धोरा की तरफ भगाई। इसके बाद में उक्त आरोपियों ने बेरहमी से मारपीट की। साथ ही साथ यह भी आरोप लगाया कि उक्त आरोपियों ने 20,000 हजार रुपए व सोने की अंगूठी भी छीनकर ले गए।

गौरतलब रहे कि कल नाबालिग के भाई ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि शनिवार को दोपहर दो बजे उसकी दो बहनें बाबोसा की ढाणी जा रही थी। रास्ते में आरोपी दावां निवासी दुर्जनसिंह व मनीष शर्मा उसकी बहनों को बोलेरों गाड़ी में जबरन डालकर ले जाने लगे। तब गाड़ी से पीछा कर आरोपियों को दबोचा। इस मामले को लेकर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की।