>



बीकानेर। नए साल यानि साल 2020 के शुरुआती महीने में शनि का राशि परिर्वतन होने जा रहा है। अमावस के दिन शनि का राशि परिवर्तन कई राशियों के लिए ढैया लेकर आया है तो कई राशियां शनि के प्रभाव से पूरी तरह से मुक्त हो रही हैं। यानि उन पर चल रही साढ़े साती खत्म होने जा रही है। शनि धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में आ रहे हैं। यह राशि परिवर्तन 24 जनवरी को होने जा रहा है। साल 2020 में 24 जनवरी को शनि धनु राशि छोड़ मकर राशि में चला जायेगा। शनि के राशि परिवर्तन का असर सभी राशियों पर देखने को मिलेगा। इसके बाद 11 मई से 29 सितंबर तक यह मकर राशि में ही वक्री होगा और 29 दिसंबर को पुन: मार्गी हो जायेगा।
पांच राशियां होगी सीधे तौर पर प्रभावित
धनु और मकर राशि में पहले ही शनि साढ़े साती का प्रभाव चल रहा है। जनवरी से कुंभ राशि में भी शनि साढ़े साती शुरू हो जायेगी। इनके अलावा मिथुन और तुला राशि भी प्रभावित हैं। धनु राशी पर उतरती साढ़े साती पैरों पर रजत पाद से होगी। मकर में मध्यकालीन साढेसाती जो हृदय पर स्वर्ण पाद से होगी। कुंभ पर प्रारंभिक साढे साती होगी हो सिर से शुरू होगी। मिथुन और तुला पर ढैया का असर देखने को मिलेगा।
राशियों पर रहेगा इस तरह से प्रभाव
ज्योतिष के अनुसार वृष राशि में वर्तमान में इस राशि के जातकों पर शनि ढैय्या चल रही है जिससे आपको आने वाले साल में मुक्ति मिल जायेगी। इससे आपके सभी काम फिर से बनने लगेंगे। मई में शनि के वक्री होने से कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। मिथुन राशि में शनि ढैय्या शुरू हो जायेगी। अचानक से आपके कार्यों में बदलाव हो सकते हैं। 11 मई को शनि के वक्र होने से आपके लिए कोई बड़ी समस्या उत्पन्न हो सकती है। कर्क राशि वाले जातकों के लिए शनि के राशि परिवर्तन से करियर के मामले में कुछ परिवर्तन के योग बन सकते हैं। शशि वर्ष पत्रिका में आपकी राशि के लिए यश महायोग बना रहे हैं जो कि आपके लिए सफलतादायक रहेगा। व्यापारियों को लाभ मिलेगा। शनि का सप्तम भाव में स्वराशिगत होना अविवाहित जातकों के लिये विवाह के योग भी बना रहा है। सिंह राशि वालों के लिए ग्रह की स्थिति को देखते हुए आपके लिए नकारात्मक संकेत मिल रहे हैं। शत्रुओं की संख्या में वृद्धि होगी। अचानक से परेशानियां काफी बढ़ जायेंगी। कन्या वालों के लिए शनि के ढैय्या खत्म हो जायेगी। आपको शुभ समाचार सुनने को मिलेंगे। शनि आपको मान-सम्मान दिलायेंगे। तुला राशि पर शनि की ढैय्या शुरू हो जायेगी। जिस कारण आपको तमाम तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। दुश्मनों से खतरा रहेगा। 29 सितंबर से शनि के मार्गी होने से आपके काम फिर से बनने लगेंगे। वृश्चिक राशि में राशि परिवर्तन होने से आपके पराक्रम में वृद्धि होगी। उन्नति के योग बन रहे हैं। धनु राशि के जातकों की आर्थिक स्थिति मजबूत रहने के संकेत दे रहे हैं। पारिवारिक सुख की भी प्राप्ति होगी। 11 मई को शनि के वक्र होने से आपके परिवार में कलह की स्थिति बन सकती है। फिर 29 सितंबर को शनि के मार्गी होने से आपके काम फिर से बनने लगेंगे। मकर राशि वाले जातकों के लिए साढ़े साती का दूसरा चरण शुरू हो जायेगा। आपको इस साल अपने कार्यक्षेत्र में बदलाव देखने को मिलेंगे। पूरे साल शनि की स्थिति को देखते हुए आपको दुश्मनों से सावधान रहने की सलाह दी जा रही है। आपको सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। वहीं कुंभ में शनि 12वें स्थान में आ जायेंगे। जिस कारण आप पर शनि साढ़े साती शुरू हो जायेगी। जो आपके धन खर्चों में बढ़ोतरी का संकेत दे रहा है। स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना होगा। वहीं मींन राशि वालों के लिए शनि ग्रह की स्थिति साल 2020 में शुभ रहने वाली है। खर्चे बढ़ेंगे लेकिन धन की वर्षा भी होगी। सेहत थोड़ा परेशान कर सकती है। 11 मई को शनि के वक्री होने से धन संबंधी मामनों में थोड़ी परेशानी झेलनी पड़ेगी। 29 सितंबर से शनि के मार्गी होने से कार्यों में फिर से तेजी आने लगेगी।
यह जानना बेहद जरुरी कि राशि में कहां बैठा है शनि
ज्योतिषाचार्य के अनुसार शनि का होने वाला राशि परिवर्तन हर राशि के जातक के लिए उसकी कुंडली के अनुसार असर देता है। साढे साती के दौरान कुंडली में भी शनि उत्तम स्थान पर होंगे तो हानि की जगह पर लाभ देंगे और जातक को उचाईयों तक पहुंचा देंगे। लेकिन अगर साढे साती नहीं होने पर भी शनि किसी जातक की राशि में उत्तम स्थान पर नहीं होंगे तो उसकी हानि होने से कोई नहीं रोक सकता।